स्वागत है आपका ।

Tuesday, 15 January 2013

पानी ।।


अपनी पार्टी के वाद की कई टोकरियां
फ़ुटपाथियों के सर पर लदवा कर चलता है
वह दोनो हाथो से पैसे लुटाता उड कर आता है
एक बहुत बडी भीड जुटाता है
जोर से हांफ़ कर
डांफ़ कर
तालियां बजवां लेता है
और हर बार वह जीत जाता है

हर बार  भुलक्कड  फ़ुटपाथिये ये भूल जाते है
कि कुत्तों को घी नही पचता
और कमीनों को पानी ।।
-------------------श्श्श

No comments:

Post a Comment