स्वागत है आपका ।

Thursday, 21 March 2013

पैमाना


अभी परसों ही वह मिला था
अच्छा खासा था
आज अच्छा नही है

अजीब है यह
अच्छा और
खास होना
और हमेशा बने रहना

जिसे नापने का पैमाना
बाजार तय करता है ।

---------शिव शम्भु शर्मा ।


No comments:

Post a Comment