स्वागत है आपका ।

Thursday, 14 February 2013

नया सवेरा


नया सवेरा
***************
एक मंच से लाउड स्पीकर से कुछ आवाजें आती है
कोई बडा आदमी बोल रहा है शायद
मेरे पांव अनायास चले जाते है
उस मंच की परीधि में

मै ध्यान से
खडा सुनता रह जाता हूं उन्हें
वे बोलते जाते है
उदाहरण देकर समझाते जाते है

और चले जाते है किसी दुसरे मंच की ओर
अभी आता हूं कहकर

मै खडा रह जाता हूं वही
प्रतीक्षा रत
और फ़िर हो जाता है
नया सवेरा ।
----------शिव शम्भु शर्मा ।

No comments:

Post a Comment