स्वागत है आपका ।

Wednesday, 13 March 2013

रद्दी


प्रोफ़ेसर की तरह मत पढना
फ़िलाफ़र की तरह भी मत पढना

रद्दी के सिवा कुछ नही मिलेगा तुम्हें
बस एक पाठक की तरह पढना तभी कुछ मिल सकता है ।
----------------श्श्श ।

No comments:

Post a Comment